Breaking

Thursday, October 4, 2018

आधी रात को धूम मची देखो, दूल्हा आ रहा है! उससे भेंट करने के लिये चलो

✞✞"आधी रात को धूम मची : देखो, दूल्हा आ रहा है! उससे भेंट करने के लिये चलो" (मत्ती 25:6)।



"यदि तू जागृत न रहेगा तो मैं चोर के समान आ जाऊँगा,
और तू कदापि न जान सकेगा कि मैं किस घड़ी तुझ पर आ पड़ूँगा" (प्रकाशितवाक्य 3:3)।


"देख, मैं द्वार पर खड़ा हुआ खटखटाता हूँ;

यदि कोई मेरा शब्द सुनकर द्वार खोलेगा, तो मैं उसके पास भीतर आकर
उसके साथ भोजन करूँगा और वह मेरे साथ" (प्रकाशितवाक्य 3:20)।


अगर प्रभु अंत के दिनों में, एक बादल पर सवार होकर सीधे ही अवतरित होते हैं,
तो उन भविष्यवाणियों का क्या अर्थ है, और वे कैसे सच होती हैं?
प्रभु की वापसी से जुड़ी बहुत सी भविष्यवाणियां हैं।
बाइबल के इन अंशों में प्रभु यीशु ने कहा है "आधी रात को धूम मची" और "एक चोर के रूप में।"इसलिए हमें ये पता है,
बिल्कुल, जब घुप्प अंधेरा होगा, जब कोई संकेत नहीं होगा, तब प्रभु एकदम चुपचाप आएंगे।
प्रभु के आने के बारे में निश्चय ही सब लोगों को पता नहीं चलेगा। उनके आने के बारे में पहले सिर्फ कुछ ही लोग जान पाएंगे,
और “आधी रात को” प्रभु के आगमन का सुसमाचार दूसरों को सुनाएंगे।
जब पूरी दुनिया में ही कलीसियाएं वीरान हो गई हैं, और वहां पवित्र आत्मा का कार्य दिखार्इ नहीं पड़ता,
जब विश्वासी सबसे ज्यादा निराश लग रहे हैं, शायद तभी कोर्इ प्रभु की वापसी की गवाही देगा।
प्रभु यीशु कहते हैं, "मेरी भेड़ें मेरा शब्द सुनती हैं" (यूहन्ना 10:27)।


प्रकाशित वाक्य में भी यह भविष्यवाणी मौजूद है:
"जिसके कान हों वह सुन ले कि आत्मा कलीसियाओं से क्या कहता है"
इसलिए, इस दौरान प्रभु का स्वागत करने वाले सभी लोगों को प्रभु की वाणी सुनने पर ध्यान देना चाहिए,
और ये जानना चाहिए कि पवित्र आत्मा कलीसियाओं से क्या कह रहा है। यही मुख्य बात है।



---------------------------------------------------------------------------------------------
jesus hindi

यदि आपके पास हिंदी में कोई आर्टिकय,और स्टोरी या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें भेजे E-mail करें. हमारी Id है : JesusMasihi1@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे,अधिक जानकारी के लिए नीचे कमेन्ट करे. Thanks! जीसस  JESUS HINDI
| PRAISE THE LORD | | भगवान की स्तुति करो

No comments:

Post a Comment